नेपाली सेक्सी बीपी

आदिवासी नंगा सेक्सी

आदिवासी नंगा सेक्सी, रोज़ी ने अपने हाथ से मेरा लण्ड पीछे करते हुए कहा- ओह सर.. आप भी ना… इसको अंदर कर लो.. मैं अभी इस सबके लिए तैयार नहीं हूँ… मैं कुछ देर तक उसकी हरकतों के बारे में सोचता रहा… फिर अचानक से मुझे जोश आया कि देखूँ तो सही कि कैसे सुसु कर रही है…

नीलम- अह्हा हा हाँ जीजू… वो कुछ खुदाई का काम चल रहा है… ऐसा करो… अभी तो मैं कपड़े पहन ही नहीं सकती… आप उनको अपने पास ही रखो… फिर कभी ले लूँगी. पार्वती ने जब घर के आँगन में पाँव रखा तो बाहर कोई न था। जाड़े के कारण सब किवाड़ बंद थे। पार्वती ने बरामदे में पहुँच कमरे का किवाड़ खोला। बाबा जलती अंगीठी के पास बैठे कोई पुस्तक पढ़ रहे थे। उन्होंने ऐनक नाक से हटाई और बोले-

सलोनी की पीठ खिड़की की ओर थी और वो आँखें बंद कर मेरे चुम्बन में व्यस्त थी…मेरे हाथ उसकी नग्न चिकनी पीठ से फिसलते हुए उसके चूतड़ों तक पहुँच गए…तभी एक पल के लिए मेरी आँख खुली… वैसे तो बाहर पूरा अँधेरा था… मगर मुझे एक पल को लगा की जैसे कोई वहाँ खड़ा है ! आदिवासी नंगा सेक्सी लड़कियों के शरीर को भी बनाने वाले ने क्या बनाया है,,, पूरा नंगा भी ,,, सेक्सी,, अधनंगी भी सेक्सी,,, और असली खूबसूरत राजकुमारियां कपड़ों में अधढकी और ज्यादा सेक्सी,,,

वीडियो में ब्लू पिक्चर हिंदी में

  1. अब मुझे समझ में आया कि उस दिन तू विशाल के साथ कहाँ गयी थी......क्यों तू इसके इतने करीब रहती........क्यों अब तुम दोनो के बीच झगड़ा नहीं होता था.......
  2. उसने आँचल से हाथ बाहर निकाला और कुंडे में ताला डाल दिया। फिर शीघ्रता से पग बढ़ाती कमरे में पहुँची। राजन अपने स्थान पर खड़ा उसकी प्रतीक्षा कर रहा था। दोनों की आँखें मिलीं, दोनों ही चुपचाप शहनाई की आवाज सुनने लगे, राजन ने कानों में उंगलियाँ देते हुए कहा- सेक्स वीडियो भाभी देवर की
  3. मगर कहते है ना कि अगर शेर के मूह में खून लग जाए तो वो कभी उस स्वाद से दूर नहीं रह सकता......कुछ ऐसा ही हाल अब विशाल और मेरा था........उसे भी चूत की लत पड़ चुकी थी और मुझे उसके लंड की.......... सलोनी- तू तो मुझे आज मरवा कर रहेगा.. सुबह से न जाने कितनों के सामने मुझे नंगी दिखा दिया… और तीन अनजाने मर्दों ने मेरे अंगों को भी छू लिया…
  4. आदिवासी नंगा सेक्सी...फिर वह मुँह में उंगलियाँ दबा के शरारत भरी हँसी हँसने लगी। पार्वती लजा सी गई-मौसी की पुकार फिर सुनाई दी और कंचन भागती नीचे उतर गई। पहले तो मैंने सोचा कि चलो जब तक अंकल नहीं आते.. नलिनी भाभी से ही थोड़ा मजे ले लिए जाएँ.. पर मेरा मन सलोनी और अंकल को देखने का कर रहा था…
  5. पूजा- हां आज देर हो गयी थी जिससे मेरी बस छूट गयी......चल पार्क में चलते है.....मैं फिर पूजा के साथ पार्क में चल पड़ी........ ज्योति मुस्कुराते हुए बोली – तुम भी ना सतीश, अभी काफी पीने का वक़्त है क्या? चलो जा फ्रेश हो कर आयो और खाना खा लो, उसके बाद फिर तुम सो जाना।

সেক্সি ব্লু ফিল্ম সেক্স

मगर कहते है ना कि अगर शेर के मूह में खून लग जाए तो वो कभी उस स्वाद से दूर नहीं रह सकता......कुछ ऐसा ही हाल अब विशाल और मेरा था........उसे भी चूत की लत पड़ चुकी थी और मुझे उसके लंड की..........

नीलम के चेहरे पर एक कातिलाना मुस्कुराहट थी, उसको मेरी सारी स्थिति का पता था और वो इसका पूरा मजा ले रही थी. सतीश अपनी ज्योति दीदी की चूची को जोर जोर से मसलता हुआ अपने लंड को उसके चूतड़ पर गड़ा रहा था। तभी कमरे से बाहर पैर की आहट सुनाई दी, तो मै डर सा गया। मैंने तभी ज्योति को छोड़ा और वो अपना नाइटी लिए वाशरूम घुस गई।

आदिवासी नंगा सेक्सी,मैंने उसके सामने ही उसकी कच्छी का चूत वाला हिस्सा अपनी नाक पर रख सूंघा…- अरे, लगता है तुमने कच्छी में ही शूशू कर दिया..

मैं- तुम दोनों पागल हो गई हो क्या?? यह क्या बकवास लगा रखी है?तभी मधु मेरे लण्ड को सहलाते हुए अपना हाथ लण्ड के सुपाड़े के टॉप पर ले जाती है.. उसको कुछ चिपचिपा महसूस हुआ… मेरे लण्ड से लगातार प्रीकम निकल रहा था…

और प्यार से मैंने उसकी पीठ को हल्का सा सहलाया और उसके गालों पर हल्का सा हाथ लगाकर उसे हंसाने की कोशिश की,தமிழ் செஸ் வீடியோ hd

इतना कहकर ही शालिनी रुक गई मुझे एक पल को लगा कहीं झटके में शालिनी हम दोनों के झरने वाली जगह रुकने के बारे में ना बोल पड़े,, मगर उसने अपने आप को सम्हाला,,, तेरी बुर तो एकदम चिकनी है......झाँट क्या इस पर तो एक रोवाँ भी नहीं है.....छूरे से साफ किया था या लौँडिया वाली बाल सफा क्रीम लगाई थी।....

तभी हमारे घर की डोर बेल बजी और शायद माम आ गई थी ,,,,मुझे ना चाहते हुए उन लोगों की सेक्सी बातों को सुनना छोड़कर दरवाजा खोलने के लिए वहां से हटना पड़ा,,,,, मेरा लन्ड अभी फुल साइज में था उसे चलते हुए मैंने कैसे भी करके फ्रेन्ची के अंदर दबाया और दरवाजा खोला

बस इतना ही समय काफी था मेरे लिए…मैं जल्दी से बाहर निकला और एक बार अंदर कमरे में देखा…वहाँ कोई नहीं था… अंकल शायद बाथरूम में थे… मैं जल्दी से मुख्य द्वार से बाहर आ गया…पीछे मधु ने दरवाजा बंद कर दिया… मैंने चैन की सांस ली…,आदिवासी नंगा सेक्सी सामने डिब्बे में से एक अधेड़ उम्र का मनुष्य हाथ में हुक्का लिए बाहर निकला और राजन को देखने लगा। राजन के मुख पर जलती आग अपनी लाल-पीली छाया डाल रही थी। उसकी आँखों से मानो शोले निकल रहे थे। राजन को इस प्रकार देख पहले तो वह घबराया परंतु हिम्मत करके पास पहुँचा।

News