अधिरा नावाचा अर्थ मराठी

जवान लड़की का बीएफ

जवान लड़की का बीएफ, कम्मो की चूत भी वाह वाह गीली हो रही थी, मैं ने भी अपनी धक्काशाही शुरू कर दी और उसकी कमर को अपने लंड से जोड़ कर हल्के और तेज़ धक्कों की स्पीड जारी रखी और थोड़े ही समय में वो अपनी टांगें सिकोड़ते हुए झड़ गई। और भैया अपने सारे कपड़े जल्दी-2 खोल रहे थे...मैं एक बार सिहर गई कि अगर श्याम की नींद खुल गई तो....भैया जब पूरे नंगे हो गए तो नीचे झुक मेरी चुची चूसने और मसलने लगे...मैं सिसक पड़ी दर्द और मस्ती में...

मेरी हल्की चीख अंदर ही अंदर घुट कर रह गई...कुछ ही पलों में मैं मस्ती में सरोबार हो गई और किसी भूखी कुतिया की तरह उनके होंठो पर वार करने लगी... मैं हँसते हुए बोला- हर एक्शन का एक रीज़न होता है हो सकता है पूनम और जेनी के बारे में भी मेरा कोई रीज़न होगा। जब मिलोगी आराम से तो बताऊँगा। और सुनाओ सब ठीक है ना?

अब मैं एक किस्म से दोनों लड़कियों के बीच में था यानि आगे रेवा थी और पीछे सांवरी थी और दोनों ही मुझ को दबा रही थी। जवान लड़की का बीएफ साथ ही मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी धोती ऊँची करके उसकी चूत पर काले बालों में से साफ झलकते चूत के होटों को मसलने लगा।

ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो भोजपुरी

  1. मुझे फ़िर नींद लग गयी. सो कर उठा तो नौ बज गये थे. ललित पहले ही उठ गया था, शायद नहा भी लिया था. मैंने चाय बनाई. वह आया और चुपचाप चाय पीने लगा.
  2. इधर मेरी चूत भी घंटी बजानी शुरू कर चुकी थी कि जल्द से जल्द कोई लंड दिखाओ..मैं अब मेन रोड तक आ साइड में खड़ी सोचने लगी..काश ऑटो वाला आ जाए या सन्नी.. தமிழ் வீடியோ செக்ஸ் வீடியோஸ்
  3. मैंने मैडम को बाँहों में भर लिया और उनके होटों को लगातार चुम्मियों से तर कर दिया और उनके गोल और सॉलिड मुम्मों को काफी देर सहलाया और चूसा। भाभी की जो टांगें मेरे दोनों तरफ से मुझ को अपने से बाँध कर रखे हुई थी, वो अपने आप ही ढीली होती चली गई और फिर मैं भाभी के ऊपर से उतर गया।
  4. जवान लड़की का बीएफ...मेरा चेहरा देख कर मुझे चूम कर बोली सॉरी मेरे राजा ... मैं जानती हूं कि तुम्हारा एक मिनिट नहीं चलेगा मेरे बिना पर प्लीज़ ... ट्राइ करूंगी कि एक हफ़्ते में लौट आऊं. अब मां का भी तो खयाल करना है, उसके साथ मुझे टाइम ही नहीं मिला मीनल ने मुसकराकर बड़ी शोखी से मेरी ओर देखा और फिर बोली सजा तो दे देंगे दामादजी को बाद में पर अब अगर मैं उनके मुंह पर बैठी तो फिर दस बीस मिनिट उठ नहीं पाऊंगी, और पानी छोड़ूंगी, फिर उनको और चाटना पड़ेगा, फिर ऑफ़िस को गोल मारना पड़ेगा
  5. अब मैं मैडम के ऊपर से उतरा और सुधा ने मेरे लौड़े को तौलिये से साफ़ किया और मैं उठ कर कपडे पहनने लगा और सुधा ने भी कपड़े पहन लिए और वो मुझको मैडम के कहने पर बाहर तक छोड़ने आई। और फिर भाबी नीचे झुकी और अपनी ज़बान मेरी चूत में डाल कर अंदर बाहर करने लगी और मेरी चूत का मीठा रस पीने लगी.....साथ ही वो मेरी चूत का दाना अपनी फिंगर से रगड़ रही थी....मेने अपनी चूत ऊपेर उछाल कर भाबी के मूँह पर मारना शुरू कर दी....

સેક્સ ફીલ્મ વીડીયો

दोपहर के 3 बजे करीब मैं और भाभी साथ बैठी इधर-उधर की बातें कर रही थी कि तभी भाभी की फोन बजी। भाभी बात करने लगी। मैं ध्यान से सुन उनकी बातें सुनने लगी। कुछ ही पल में भाभी काफी मायूस सी हो गई। मैं भी कुछ परेशान हो गई भाभी को देख। फिर भाभी फोन रखते हुए बोली,सीता, आज वो नहीं आएंगें!

रेनू के झड़ते ही सब लड़कियों ने तालियों से उसका स्वागत किया और फिर सबने उसको जाकर एक प्यारी सी जप्फी मारी। तभी मोटरगाड़ी की तेज आवाज से श्याम हड़बड़ा गया।सामने देखा सीता अपने भैया-भाभी के साथ पहुँच गई ।सीता को देखते ही श्याम को जैसे करंट छू गया हो। उसके मन में अब एक ही सवाल रह गया था, गाँव की लड़की इतनी सुंदर कैसे? मैं तो बेकार में ही इतना सोच रहा था

जवान लड़की का बीएफ,नाश्ते के टेबल पर रूबी और मधु मैडम भी मिल गई और उन्होंने बताया कि आज कोई खास प्रोग्राम नहीं है शूटिंग का सो सब फ्री हैं जैसा चाहें वो कर सकते हैं।

वो कुछ ही पल में आँखों से ओझल हो गई..मैं सोचने लगी कि क्या करूं..उसके पीछे जा के देखूं कि वो किसके साथ है..

अरे बस रानी ... कितनी उंगली करेगी? और इस पैंटी में छेद नहीं किया जैसा कल मौसी ने तेरी पैंटी में किया था मैं बोला. उसकी उंगली जब जब मेरी गांड में गहरी जाती थी, बड़ी अजीब सी गुदगुदी होती थी.புண்டை படம் தமிழ்

कल जो कुछ भी हुआ उसकी जिम्मेदार मैं ही हूँ। मुझे बिना पूछे फोन रिसीव नहीं करनी थी। मैं तो ये सोच के रिसीव की थी कि दोस्त की ही तो फोन है, रिसीव कर भी ली तो कुछ करेगी थोड़े ही।आएगी तो कह दूंगी। मगर मैं गलत थी। अगर पता होता कि मेरी वजह से किसी को ठेस पहुँचती है तो कतई मैं ऐसा नहीं करती। अंदर आते ही श्याम और भैया ने प्रणाम किए और वहीं साथ में एक कुर्सी पर बैठ गए..मैं उठ के अंदर चली आई..कुछ ही देर बाद श्याम भी कपड़े चेंज करने अंदर आए...

मैं उनके मज़ाक के लहजे को समझ गया और उसी टोन में बोला- गाँव में हर शनिवार बाजार लगता है, वहीं से खरीदा है। तुमको यह पसंद है तो तुम ले लो, मैं दूसरा ले लूँगा!

उधर उषा मैडम का जिस्म भरा हुआ और काफी गठा हुआ था जैसा कि मैं पहले भी देख चुका था और चूत एकदम सफाचट थी।,जवान लड़की का बीएफ नहीं, मैं वो नहीं कह रही..आज ही करना पर यहाँ खुले में ठीक नहीं.... मैं अपनी बात पूरी कर भी नहीं पाई कि बीच में बंटी बोल पड़ा,चुपचाप रह समझी...आज तो हम दोनों ही चोद रहे अगर ज्यादा चपड़-2 की तो 10 लौंडे को बुलवा लूंगा अभी और बीच सड़क पर चोदूँगा दोनों को..शुक्र मना कि साइड में चोद रहा हूँ...

News